Skin Care- त्वचा को सूरज की किरणों से कैसे बचाएं?..जानिए आसान उपाय

 
चेहरे

सूरज की पराबैंगनी किरणों के सीधे संपर्क में आने से त्वचा पर चकत्ते, ब्लैकहेड्स, सूखापन और जल्दी झुर्रियां पड़ सकती हैं। सनस्क्रीन लोशन विशेष रूप से रसायनों और प्राकृतिक अवयवों का उपयोग करके तैयार किए जाते हैं। डॉक्टर की सलाह के अनुसार सभी को यह तय करना चाहिए कि उनकी त्वचा के लिए कौन सी सनस्क्रीन क्रीम सही है। कॉर्नफ्लावर त्वचा पर एक्सफोलिएट का काम करता है। हफ्ते में एक बार कॉर्नफ्लावर को चेहरे और गर्दन पर लगाने और चेहरे को अच्छे से धोने से त्वचा की सफाई करने में मदद मिलती है।

सूर्यकिरण


अपने चेहरे को साबुन से धोने के बाद सिरके की कुछ बूंदों को पानी में मिला लें। इस पानी से चेहरा पोंछ लें। यह साबुन में मौजूद रसायनों को चेहरे पर होने वाले हानिकारक प्रभावों से बचाता है। खुद के चेहरे पर साबुन रगड़ने से बचें। अंडे की सफेदी वाली मेयोनीज को चेहरे पर मलें ताकि त्वचा ढीली न हो। अपने चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें। इससे स्क्रीन टाइट हो जाती है। चेहरे पर स्क्रू का ज्यादा इस्तेमाल न करें। यह त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है।
अगर होंठ फटे हैं तो रोज रात को सोने से पहले होठों पर पेट्रोलियम जेली, मिनरल ऑयल या वेजिटेबल ऑयल लगाएं।  दिन भर में ढेर सारा पानी पीना त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है। अपने हाथों की देखभाल के लिए हर रात सोने से पहले अपने हाथों को पानी से गीला करें। फिर हाथों पर थोड़ा सा तेल या क्रीम मलें। इस क्रीम/तेल को हाथ से सोख लें। अतिरिक्त तेल को पोंछ लें। इससे हाथ की त्वचा मुलायम हो जाएगी। 

सूर्यकिरण


गर्मियों में ऐसा आहार चुनें जो शरीर के तापमान को सही रखे और गर्मी से राहत दे। खरबूजे, तरबूज, अनानास, तरबूज, संतरा, खट्टे, आम जैसे रसीले फल खाएं। धूप से बचाव के लिए टमाटर खाएं। खूब पानी पिए। आहार में पत्तेदार सब्जियों को शामिल करना चाहिए। पत्तेदार सब्जियां प्रोटीन, फाइबर और विटामिन से भरपूर होती हैं।  सन सनस्क्रीन लोशन विभिन्न प्रकारों में उपलब्ध है जैसे जेल, प्री, लोशन, क्रीम, वाइप्स। इसका इस्तेमाल स्किन टाइप के हिसाब से करना चाहिए। उदा. तैलीय त्वचा के लिए जेल का उपयोग करने की सलाह दी जाती है। चूंकि यह तैलीय है, इसलिए सनस्क्रीन वाइप विकल्प छोटे बच्चों के लिए उपयुक्त है और एथलीटों के लिए उपयुक्त है। 
रोजाना नहाने के बाद और बाहर जाते समय त्वचा पर सनस्क्रीन क्रीम लगाएं। हो सके तो हर तीन से चार घंटे में सनस्क्रीन लगाएं। कम से कम 30 एसपीएफ फैक्टर वाली क्रीम का इस्तेमाल करें। पानी में काम करने वाले लोगों को वाटरप्रूफ क्रीम का इस्तेमाल करना चाहिए। सनस्क्रीन क्रीम या लोशन पर निर्भर न रहें। साथ ही हमेशा छाते, स्कार्फ, गॉगल्स आदि का इस्तेमाल करें। एक त्वचा विशेषज्ञ की सलाह के अनुसार एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में ओरल या सिस्टमिक सनस्क्रीन लिया जा सकता है। मूल रूप से यदि त्वचा धूप के संपर्क में आने से झुलस गई है, तो त्वचा को साबुन या फेस वाश और खूब पानी से धोएं। इस पर तुरंत मॉइश्चराइजर लगाएं।

From Around the web