अगर आप हार्ट के हैं पेशेंट तो हो जाइए सावधान, सर्दियों में हार्ट अटैक का है ज्यादा खतरा

सर्दी में हार्ट अटैक

शीत ऋतु निश्चय ही सुखद होती है। लेकिन यह अपने साथ कई तरह की बीमारियां भी लेकर आता है। विशेष हृदय रोगियों के लिए सर्दी का मौसम खतरनाक माना जाता है। शोध के अनुसार इस मौसम में हार्ट अटैक, हार्ट फेलियर और अतालता का खतरा बढ़ जाता है। 
इन लोगों को है ज्यादा खतरा- इस मौसम में शरीर का उचित तापमान बनाए रखने के लिए आपके शरीर और हृदय को अधिक मेहनत करनी पड़ती है। इससे हृदय पर अधिक दबाव पड़ता है और कमजोर हृदय वाले लोगों में हृदय गति रुकने का खतरा बढ़ जाता है।

हार्ट अटैक


दिल के मरीजों के लिए क्यों खतरनाक है सर्दी का मौसम -
1. स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार सर्दियों में तापमान गिर जाता है और शरीर को मानसिक रूप से गर्म रखने के संकेत हैं। कम तापमान तंत्रिका तंत्र को सक्रिय करता है जिससे कैटेकोलामाइन का स्तर बढ़ जाता है। 
2. यह कैटेकोलामाइंस रक्त वाहिकाओं को संकुचित करता है, हृदय गति, रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाता है।
3. रक्त वाहिकाओं के सिकुड़ने पर भी रक्त का थक्का जम जाता है। इन सब चीजों से हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।
ये हैं अन्य कारण-- इस मौसम में वायु प्रदूषण, शारीरिक गतिविधियों में कमी, मानसिक तनाव, खान-पान की खराब आदतें और वायरल इंफेक्शन से भी हार्ट अटैक और फेल होने की संभावना बढ़ जाती है। जिन लोगों का दिल कमजोर होता है या जिन्हें पहले से ही दिल की बीमारी है, उन्हें इस मौसम में ज्यादा खतरा होता है। क्योंकि इस समय सांस लेना मुश्किल होता है। इसके अलावा इस मौसम में फ्लू और निमोनिया जैसी बीमारियां होने की संभावना अधिक रहती है।

हार्ट अटैक

From Around the web