Gardening Tips - घर पर गमलें में उगाएं रसदार नींबू , इन आसान तरीके से पा सकते हैं 1 से 2 किलो नींबू

 
नींबू का पौधा

जैसे-जैसे मौसम गर्म हुआ, हर कोई नींबू पानी पीना चाहता था। इस चिलचिलाती धूप में नींबू पानी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। नींबू पानी के लिए आपकी जरूरत की हर चीज घर पर उपलब्ध है। अगर आपके पास नींबू नहीं है, तो आपको दुकान पर जाना होगा। केमिकल से उगाए गए कई नींबू कई जगहों पर बिकते हैं। जो सेहत के लिए भी हानिकारक होते हैं। ऐसे में आप रसदार नींबू को बाजार में जाए बिना घर के गमले में आसानी से उगा सकते हैं। थोड़े से प्रयास से आप आसानी से नींबू उगा सकते हैं और केमिकल मुक्त भी हो सकते हैं। इसके लिए आपको कुछ चीजों की भी जरूरत पड़ेगी।

नींबू का पेड़

नींबू के पेड़ के लिए सामग्री- आपको इसके लिए बीज, उसे उगाने के लिए एक बड़ा बर्तन, उर्वरक मिट्टी, एक बेहतर जगह और समय पड़ने पर पानी चाहिए होगा। अगर आप गमले में फूल, सब्जी या कोई अन्य वस्तु उगाना चाहते हैं तो उसके लिए सही बीज का होना बहुत जरूरी है। यदि बीज उपयुक्त नहीं हैं, तो आप गमले में फूल, सब्जियां या कुछ और नहीं उगा सकते। इसलिए एक नींबू को पकाने के लिए सबसे पहले आपको उसके बीजों का सही चुनाव करना होगा।

बीज खरीदने के लिए आप किसी भी बीज की दुकान पर जा सकते हैं और खरीद सकते हैं। कई लोग ऐसे भी हैं जो छोटे-छोटे नींबू के पौधे भी खरीदते हैं। आपको पहले यह तय करना होगा कि गमलों में बीज बोएं या छोटे पौधे लगाएं। नींबू के पौधे खरीदने के बाद एक बर्तन तैयार कर लें। मिट्टी को बर्तन में डालें और एक या दो बार अच्छी तरह से खुरचें। स्क्रैपिंग से मिट्टी नरम हो जाएगी। इससे नींबू की जड़ें मजबूत होंगी और अच्छी उपज भी मिलेगी। मिट्टी को खुरचने के बाद बर्तन को कुछ देर के लिए धूप में रख दें। इसे धूप में रखने से मिट्टी की नमी खत्म हो जाएगी। इससे नींबू की जड़ पर कोई बुरा असर नहीं पड़ेगा। कभी-कभी मिट्टी की नमी के कारण पौधे मर जाते हैं। बीज को लगभग 2 से 3 इंच गहरी मिट्टी में लगाना चाहिए ताकि फसल उत्तम हो।

नींबू का पौधा

गमले में मिट्टी तैयार करते समय कम्पोस्ट मिट्टी में मिलाना न भूलें। किसी भी पौधे की जड़ों तक खाद पहुंचने पर फसल की पैदावार अच्छी होती है। यह पौधे के विकास में भी बहुत मदद करता है। लेकिन, आपको पौधे के लिए हमेशा प्राकृतिक खाद का इस्तेमाल करना चाहिए। उदाहरण के लिए, खाद या जैविक खाद, कम्पोस्ट खाद आदि को भी पौधे में मिलाया जा सकता है। रासायनिक खाद पौधे को कभी भी नुकसान पहुंचा सकती है। कोई भी बीज बोने के बाद पौधे को नियमित रूप से पानी देना बहुत जरूरी है। जब आप शुरुआत में ही गमले में बीज लगाते हैं तो रोपण के बाद एक से दो मग पानी डालें। पानी डालने के बाद समय-समय पर एक से दो पानी डालें। इस बीच मौसम का ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है। जब आप गमले में बीज लगाते हैं, तो पौधे को बहुत अधिक धूप में न रखें। बहुत अधिक धूप के कारण बीज मर जाते हैं। गमले को ऐसी जगह पर रखें जहां धूप न हो।

समय-समय पर गमले में उगने वाले अतिरिक्त खरपतवारों को साफ करना भी बहुत जरूरी है। कभी-कभी खरपतवार पौधों को नष्ट कर देते हैं। ऐसे में आपको गमले में उगने वाली घास को नियमित रूप से साफ करना चाहिए। करीब चार से पांच महीने के बाद पौधा नींबू पैदा करता है। एक बार नींबू आने के बाद आप उन्हें पकने के लिए छोड़ सकते हैं या फिर आप कच्चे नींबू का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

From Around the web